हजरत ख्वाजा हुसामुद्दीन र.अ.

आप हुजूर गरीब नवाज र.अ. के मंझले साहबजादे हैं। आप बहुत बड़े आलिम और बाकमाल बजुर्ग थे। आपको हुजूर ख्वाज गरीब नवाज र.अ. की रूहे मुबारक से निसबत हासिल थी। आपने इबादतगुजारी में सख्त मेहनत और रियाजत की। पैंतालीस साल की उम्र में आप दुनिया की नजरों से गायब होकर अबदालों शामिल हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *