रोजी रोजगार के लिए

महीने के शुरू के जुमा से चालीस जुमा तक ग्यारह बार रोजाना मगरिब की नमाज के बाद पढ़े-
‘हस्बुनल्लाहु व निअ्मल वकील’
और हर जुमे के बाद कागज पर निम्न आयत को लिखकर कुएं में डालता जाए इन्शाअल्लाह खुशहाल हो जाएगा।
‘व ल-क़द मक्कन्नाकुम फि़ल अजिऱ् व ज-अलना लकुम फ़ीहा मआइ-श क़लीलम मा तशकुरून।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *